Breadcrumb

BHARTIYA SAMVIDHAN KA VIKAS TATHA RASHTRIYA ANDOLAN

BHARTIYA SAMVIDHAN KA VIKAS TATHA RASHTRIYA ANDOLAN

(0 Reviews)
  • ISBN : 9788121905718
  • Pages : 488
  • Binding : Paperback
  • Language : Hindi
  • Imprint : S. Chand Publishing
  • © year : 1962
  • Size : 6.75''X9.5''

Price : 425.00 340.00

Useful for B.A, M.A and other competitive Exams

1. साम्राज्यवाद-भारत में ब्रिटिश साम्राज्यवाद, 2. भारत का स्वतन्त्राता संग्राम-सन् 1857 का विप्लव (विद्रोह), 3. भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन के उदय के कारण, 4. उन्नीसवीं शताब्दी में राजनीतिक चेतना का विकास, 5. कांग्रेस की स्थापना और आरम्भिक वर्षों में उसकी नीतियाँ, 6. कांग्रेस की नरमपंथी शाखा और उसकी नीतियां, 7. कांग्रेस की उग्रपंथी शाखा और उसकी नीतियां, 8. स्वदेशी आन्दोलन, 9. असहयोग आन्दोलन, 10. सविनय अवज्ञा आन्दोलन, 11. भारत छोड़ो आन्दोलन, 12. क्रांतिकारियों का योगदान, 13. भारत में सम्प्रदायवाद का उदय, कारण, विकास और परिणाम, 14. स्वतंत्राता आन्दोलन के कुछ महान नेता, 15. भारत का संवैधनिक विकासः सन् 1909 एवं सन् 1919 के भारत के शासन अध्निियम, 16. भारत शासन अध्निियम, सन् 1935 ई. की विशेषताएं, 17. भारतीय स्वतन्त्रता अध्निियम, 18. संविधान की प्रस्तावना का दार्शनिक आधार, 19. भारतीय संविधान की प्रमुख विशेषताएं, 20. संघीय ढांचा, 21. मौलिक अधिकार एवं कत्र्तव्य, 22. राज्य-नीति के निदेशक तत्व, 23. निर्वाचन पद्धति, सुधार, 24. संघीय व्यस्थापिकाः संसद, 25. संघीय कार्यपालिकाः राष्ट्रपति, 26. प्रधानमंत्री और संघीय मंत्रिपरिषद, 27. संघीय न्यायपालिकाः सर्वोच्च न्यायालय, 28. राज्यों की व्यवस्थापिकाः संगठन एवं कार्य, 29. राज्य कार्यपालिका राज्यपाल, मुख्यमंत्री, मंत्रिमंडल, 30. केन्द्र-राज्य सम्बन्ध, 31. भारत के राजनीतिक दल, 32. दबाव समूहः प्रकार और पद्धतियाँ, 33. भारतीय संविधन में संशोध्न की प्रक्रिया, 34. संविधन के अनुच्छेद 370 का विशेष अध्ययन ऽ परिशिष्ट-1ः (15वीं लोकसभा का चुनाव एवं गठन) ऽ परिशिष्ट-2ः (वर्ष 2011 व 2012 में कुछ राज्य विधानसभाओं के चुनाव और उनके परिणाम)

Be the first one to review

Submit Your Review

Your email address will not be published.

Your rating for this book :

Sign Up for Newsletter