Breadcrumb

Itihaas Aadhunik Bharat ka Itihas Semester III: NEP 2020 Uttar Pradesh

Itihaas Aadhunik Bharat ka Itihas Semester III: NEP 2020 Uttar Pradesh

Author : V.D. Mahajan

(0 Reviews)
  • ISBN : 9789355011190
  • Pages : 232
  • Binding : Paperback
  • Language : Hindi
  • Imprint : S. Chand Publishing
  • © year : 2023
  • Size : 6.5 X 9.25

Price : 199.00 159.20

यह पुस्तक, नई शिक्षा नीति 2020 द्वारा अनुशंसित उत्तर प्रदेश के सभी राज्य विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों के लिए समान न्यूनतम पाठ्यक्रम (Common Minimum Syllabus) के आधार पर अत्यंत ही सरल और सुरुचिपूर्ण भाषा में इतिहास के छात्रों के लिए लिखी गई है। यह पुस्तक बी.ए. इतिहास के विद्यार्थियों के साथ प्रशासनिक सेवा (सिविल सेवा) के अभ्यर्थियों के लिए भी उपयोगी है।

• इस पुस्तक में आधुनिक भारत से सम्बन्धित सभी महत्वपूर्ण विषयों को सम्मिलित किया गया है। 
• इस पुस्तक में स्वातंत्रयोत्तर भारत में रियासतों के विलय और सरदार वल्लभभाई पटेल के योगदान का  विवेचन किया गया है। 
• यह पुस्तक आधुनिक भारत की तथ्यात्मक एवं विश्लेषणात्मक समझ बनाने में सहायता करती है।

1. भारत में यूरोपीय जातियों का आगमन (Advent of Europeans in India)
2 अंग्रेजी ईस्ट इण्डिया कंपनी की स्थापना तथा विकास (Rise and Growth of English East India Company)
3. दक्षिण में प्रभुत्व के लिए अंग्रेजों तथा फ्रांसीसियों का संघर्ष (Anglo-French Struggle for Supremacy in the Deccan)
4. बंगाल में अंग्रेज (1757-1772) (The English in Bengal, 1757-1772)
5. ईस्ट इंडिया कंपनी का क्षेत्रीय विस्तार -1 (Territorial Expansion of the East India Company-1)
6. ईस्ट इंडिया कंपनी का क्षेत्रीय विस्तार -2 (Territorial Expansion of the East India Company-2)
7. ईस्ट इंडिया कंपनी का क्षेत्रीय विस्तार-3 (Territorial Expansion of the East India Company-3)
8. ईस्ट इंडिया कंपनी का क्षेत्रीय विस्तार -4 (Territorial Expansion of the East India Company-4)
9. रणजीत सिंह के अधीन पंजाब का उदयय विजय एवं प्रशासनय 18वीं सदी में हैदराबाद एवं मैसूर का उदय (Rise of Punjab Under Ranjit Singh; Victory and Persuasion; Rise of Hyderabad and Mysore in the 18th Century)
10. औपनिवेशिक काल में भू-राजस्व व्यवस्था  (Land Revenue System in Colonial Period)
11. आधुनिक भारत का पुनर्जागरण (The Renaissance in Modern India)
12. शक्ति का हस्तांतरण (Transfer of Power)
13. औपनिवेशिक भारत में शिक्षा का विकास (Development of Education in Colonial India)
14. संवैधनिक विकास (Conscious Development)
15. स्वातंत्रयोत्तर भारत में रियासतों का विलय और सरदार वल्लभ भाई पटेल की भूमिका (The Merger Of Princely States With India And The Role Of Sardar Vallabhbhai Patel In The Postwar India)

Be the first one to review

Submit Your Review

Your email address will not be published.

Your rating for this book :

Sign Up for Newsletter