Order placed after July 6th will be shipped after July 14th because we are doing a stock audit. Sorry for the inconvenience.

Breadcrumb

Arthshastra B.A. Ke Vidyarthiyon Ke Liye Semester II: MJ-2 | Samasti Arthshastra ka Parichaye |  NEP 2020 Jharkhand

Arthshastra B.A. Ke Vidyarthiyon Ke Liye Semester II: MJ-2 | Samasti Arthshastra ka Parichaye | NEP 2020 Jharkhand

Author : H L Ahuja

(0 Reviews)
  • ISBN : 9789358706567
  • Pages : 328
  • Binding : Paperback
  • Language : Hindi
  • Imprint : S Chand Publishing
  • © year : 2024
  • Size : 6.50*9.25

Price : 315.00 252.00

यह पुस्तक, राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 द्वारा अनुशंसित रांची विश्वविद्यालय तथा झारखंड के अन्य विश्वविद्यालयों के पाठ्यक्रम के आधार पर विकसित की गई है। इस पुस्तक का प्रमुख उद्देश्य स्नातक स्तर के विद्यार्थियों को समष्टिभावी आर्थिक विश्लेषण से संबंधित सिद्धांतों से परिचित कराना और साथ ही अर्थशास्त्र विषय में उनकी अभिरुचि को बढ़ाना है।

  • राष्ट्रीय आय संबंधी जटिल अवधारणाओं का अत्यन्त सरल और रोचक भाषा में विवेचन
  • मुद्रास्फीति के सिद्धान्त तथा प्रभावों की सरल तरीके से व्याख्या
  • बैंकिंग प्रणाली के विभिन्न प्रकारों का वर्गीकरण
  • मौद्रिक नीति का उद्देश्य, भूमिका तथा उपकरणों का विस्तृत अध्ययन
  • भारत की व्यापार नीति का आलोचनात्मक विश्लेषण

भाग-1: समष्टि अर्थशास्त्र का परिचय

1. समष्टि अर्थशास्त्र: विषय-क्षेत्र एवं इसकी विभिन्न विचारधाराएँ
2. राष्ट्रीय आय: अर्थ व धारणाएँ
3. राष्ट्रीय आय का निर्धारण: केन्ज़ का दो क्षेत्रीय मौलिक मॉडल
4. सरकारी व्यय समेत राष्ट्रीय आय का निर्धारण: तीन-क्षेत्रीय मॉडल
5. खुली अर्थव्यवस्था में राष्ट्रीय आय का निर्धारण: चार-क्षेत्रीय मॉडल

भाग-2: धन एवं मुद्रास्फीति

6. मुद्रा का स्वरूप तथा कार्य
7. फ्रीडमैन का मुद्रा का आधुनिक परिमाण सिद्धान्त
8. मुद्रास्फीति के सिद्धान्त
9. मुद्रास्फीति के प्रभाव तथा उसका नियन्त्रण

भाग-3: बैंकिंग

10. बैंकों के प्रकार
11. केन्द्रीय बैंकिंग
12. वाणिज्य बैंकिंग
13. क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक एवं विकास बैंक

भाग-4: समष्टि आर्थिक नीति

14. मौद्रिक नीति: उद्देश्य, भूमिका तथा उपकरण
15. राजकोषीय नीति तथा आर्थिक स्थिरीकरण
16. भारत की व्यापार नीति: आत्मनिर्भरता से वैश्वीकरण तक की यात्रा

B.A. Ke Vidyarthiyon Ke Liye

Be the first one to review

Submit Your Review

Your email address will not be published.

Your rating for this book :

Sign Up for Newsletter